Bharatiya Karyapalika Mein Samajik Nyay ka Sangharsh

Ankahi Kahani, P. S. Krishnan ki Zubani

P. S. Krishnan, V. Vasanthi Devi

978-81-942505-2-4

Forward Press, 2021

Language: Hindi

446 pages

Price INR 400.00
Book Club Price INR 320.00
INR 400.00
SKU
LWB1080
यह किताब सामाजिक न्याय के विभिन्न आयामों को समझने के लिए एक समग्र दस्तावेज है जिसके जरिए देश के सभी हिस्सों में हुए आंदोलनों, सरकारी पहलों और जन-हस्तक्षेपों की बारीक से बरीक जानकारी संकलित है। फिर चाहे वे दक्षिण के राज्यों में मडिगाओं, इजावाओं व परया के सवाल हों या फिर उत्तर भारत की दलित व पिछड़े वर्ग की तमाम जातियां। यहां तक कि कृष्णन ने घुमंतू और अर्द्धघुमंतू जातियों के हक-अधिकार को लेकर भी अबतक किए गए प्रयासों को सामने रखा है।

P. S. Krishnan

P. S. Krishnan is a former member of the Indian Administrative Service (IAS) and has been actively working for the cause of the advancement and empowerment of the deprived social categories of Indian society, the Scheduled Castes, Scheduled Tribes and Backward Classes, for over nearly seven decades including his 35-year career in the IAS.